Internet,Technology & More

Sunday, December 24, 2017

Mark Zuckerberg Facebook तक का सफर | जीवनी, Success Story, Biography In Hindi

      Mark Zuckerberg Facebook तक का सफर | जीवनी, Success Story, Biography In Hindi: Mark Zuckerberg को आज हर कोई जानता है. जीहा Facebook के स्थापक. कॉलेज होस्टल के कमरे में Students के लिए बनी Facebook आज दुनिया में  सबसे बड़ी Social Networking site बन गई है! और Facebook को बनाने वाले Mark दुनिया के सबसे youngest billionaires में से ऐक हैं. ईस पोस्ट में Mark Zuckerberg की पूरी कहानी  मार्क ज़ुकेरबर्ग - विकिपीडिया (Mark Zuckerberg Biography In Hindi) बताई गई है. की कैसी उन्होंने फेसबुक तक सफर तय किया आइये जानते हैं मार्क ज़ुकेरबर्ग की जीवनी और सफल कहानी हिन्दी में.
Mark Zuckerberg Biography

Mark Zuckerberg Biography In Hindi मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी


प्रारंभिक जीवन Early Life
     Mark Zuckerberg का जन्म 14 मई 1984 को white plains, New York में हुआ था. मार्क के पिता  Edward Zuckerberg और माता Karen Zuckerberg हैं. मार्क ने 2012 में Priscilla Chan से शादी की. आज उनकी दो बेटियाँ हैं Maxima Chan Zuckerberg और August Chan Zuckerberg.

Mark Zukerberg Short Introduction

Full Neme: Mark Elliot Zuckerberg
D.O.B: 14 May 1984
Age: 33 Year (Present Time)
Home town: Dobbs Ferry, New York, 
                       U.S.Residence Palo Alto, California , U.S.
Occupation: Computer programmer,
                      Internet entrepreneur
Years active: 2004–present
Known for: Co-founder of Facebook
Title: Chairman and CEO of Facebook
Salary: One-dollar salary
Net worth: Estimated US $74.2 billion (November 2017)
Children: 2
Relatives: Randi Zuckerberg (sister)
                  Priscilla Chan (Wife)
Websitefacebook.com/zuck

Mark Zuckerberg का Facebook तक का सफर !


      12 साल की उम्र में ही मार्क ने Atari BASIC का उपयोग करके ऐक messaging program बनाकर अपने टेलेन्ट और प्रोग्रामिंग में रुचि का परिचय दिया था. ईस मेसेजिंग प्रोग्राम को Mark ने “Zucknet” नाम दिया था। Mark ने पिता इस program को अपने दाँतो के कार्यालय में उपयोग करते थे. ईस के बाद मार्क ने computer Game, MP3 Player's जैसी चीजें भी बनाई. जिसे मार्क में नया सीखने की ओर नया करने की धगस और बढती गई.

Mark Zuckerberg First Site FaceMash – A Fun Site for voting

     ऐक दीन मार्क को ऐक नया विचार आया. उन्होंने ऐक ऐसी वेबसाइट बनाने के बारे में सोचा जिसमें में दो स्टूडेंट की फोटो की एक साथ तुलना की जा सके. ईस के लिए स्टुडेंट के फोटो की आवश्यकता थी. तो मार्क ने हार्वर्ड के डेटाबेस को हैक किया जहां कॉलेज स्टूडेंट अपनी प्रोफाइल फोटो अपलोड करते थे. तो मार्क ने यहाँ से अपनी वेबसाइट के लिए फोटो का इंतजाम कर लिया और अपना वेबसाइट बना लिया जिसे फेसेसमास FaceMash नाम दिया.
Facemash Website

     यह वेबसाइट Automatically फीमेल के इमेज show करता था और उन पर वोटिंग चलाता है कि कौन इन दोनों में से ज्यादा beautiful है.ईस तरह website पर आने वाले लोगो के द्वारा वोटिंग की जाती थी. इस वेबसाइट पर बहुत ही कम समय में बहुत ही ज्यादा लोग/ट्रैफिक आ गये थे। अब मार्क पर हैकिंग करने का इल्जाम लगा ता क्योंकि Mark ने स्टुडेंट की फोटो डेटाबेस हैक करके ही ली थी. फेसेसमास के यूजर्स की संख्या करीब 10 लाख तक पहुंच गई थी !! पर काम गलत कर दिया था बंन्दे ने पर पीछे हट जाये वो Mark Zuckerberg नहीं !!

कैसे बनाई Mark Zuckerberg ने Facebook?


      FaceMash वेबसाइट से मार्क को थोड़ा अंदाज तो लग ही गया कि लोगों को क्या पंसद है. और ऐसी चीजों में ट्रैफिक भी ज्यादा मिलेगा. तो फिर क्या था फिर शरु हुई Mark Zuckerberg को विश्व विख्यात करने वाली Facebook की कहानी !
Mark Zuckerberg

     सबसे पहले Mark के पास सोशल नेटवर्क साईट बनाने का आईडिया लेकर दिव्य नरेन्द्र (ट्विन्स टाइलर और कैमरों विन्क्लेवोस का पार्टर)आया था. नरेंद्र और विंकलेवोस के साथ एक मीटिंग के Mark ने इस काम को करने के लिए स्वीकार किया था. ईस काम के दौरान मार्क को अपनी एक सोशल साईट बनाने का सपना देखा।

      ईस सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने अपने दोस्तों के मिलकर अपनी सोशल साईट बनाने की शुरुआत की और देखते देखते ही उन्होंने ने बनाली अपनी social site जिसपे यूजर अपना प्रोफाइल बना सके और फोटो अपलोड कर सकें. जिसे thefacebook.com डोमेन नाम रजिस्ट्रार करके 4 February 2004 को फेसबुक लोन्च किया. 2005 में  The Facebook से "The" निकालकर Facebook किया गया.

     सबसे पहले फेसबुक को आईवे लीग के स्टूडेंट्स के लिए खोला गया क्योंकि Facebook को Students  के लिए ही बनाया गया था. इसके बाद दूसरे कॉलेजों, स्कूलों, इंटरनेशनल स्कूलों के लोग भी इससे जुड़ने लगे. ईस तरह धीरे धीरे फेसबुक पर ट्रैफिक बढने लगा. 2005 तक इस साइट की मेंबरशिप 5.5 मिलियन यूजर्स हो गई.

     अब Facebook केवल students को नहीं बल्कि सबको पसंद आने लगा और सभी लोग फेसबुक से जुड़ने लगे. देखते ही देखते Facebook के 50 Million user's हो गये. ईस बीच Yahoo ने 900M $ में Facebook को खरीदना चाहा पर Mark Zuckerberg ने यह बड़ी ओफर ठुकरा दी. क्योंकि उन्हें यकीन था कि वो और भी बहुत Grow करेंगे. पुरी दुनिया के कोने कोने में Facebook उपयोग होने लगी हैं। सब देख रहे हैं आज भी Facebook नहीं रुकि. आज Facebook के युजसँ की संख्या 2.01B से भी ज्यादा है. और दुनिया की No.1 Social Site है ! अपनी कंपनी को बेचने की ओफर ठुकरा कर आज मार्क whatsapp, Instagram जैसी दुनिया की और बेहतरीन Social Sites को खरीद चुके हैं.


      Mark Zukerberg की Facebook हर साल $59.2 B यानी $5900 करोड़ की कमाई करती हैं. ईस तरह 23 साल की उम्र में अपनी मेहनत के दम पर अरबपति बने थे जकरबर्ग. माकँ आज दुनिया के पाँचवें सबसे घनिक व्यक्ति हैं.

     ये  मार्क जुकेरब की (Mark Zuckerberg) Facebook तक के सफर की कहानी आज और आने वाले समय में भी युवा के लिए ऐक प्रेरणादायी हैं. उम्मीद करता हूँ की आप को यह मार्क ज़ुकेरबर्ग की जीवनी बायोग्राफि जरूर पंसद आई होगी. ईस Success Story को सभी के साथ शेयर करना ना भूलें. Thank you By: Vijay Variya

ईसे भी पढ़ें: 
»» फेसबुक के बारे में रोचक तथ्य TOP 50 Unknown Facebook Facts

»» नये फेसबुक ग्रुप ज्वाईन करें ! Top Facebook Group List

0 comments:

Post a Comment

Google+ Badge

Powered by Blogger.

Follow by Email

Contact us

Name

Email *

Message *